Maulana Azad Library – Aligarh

Maulana Azad Library - Aligarh
Maulana Azad Library – Aligarh

यह Asia की दूसरी सबसे बड़ी University library के लिए भी जनि जाती है। 

सन1960 में इस पुस्तकालय को मौलाना आजाद पुस्तकालय से नामित किया गया था| 

उस समय के प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू ने इस पुस्तकालय की वर्तमान इमारत का उद्घाटन किया था। 

अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय का जो पुस्तकालय है उसे मौलाना आजाद library  के नाम से जाना जाता है।

इस पुस्तकालय की सात मंजिला इमारत 4.75 एकड़ में फैली हुई है। 

इस पुस्तकालय में लगभग 14 लाख किताबें मौजूद हैं। 

जिसके कारण यह अलीगढ़ के दर्शनीय स्थलो में बहुत चर्चित स्थल बन गया है। 

वर्ष 2010 में इस पुस्तकालय के पचास साल पूरे होने पर इसकी गोल्डन जुबली मनाई गई थी। 

इस library में पर्यटक जरूर आते है। इस  केंद्रीय पुस्तकालय मे 80 से अधिक महाविद्यालय और विभागीय पुस्तकालय शामिल हैं।

 मौलानाआजाद लाईब्रेरी का इतिहास

History of Maulana Azad Library

यह केंद्रीय पुस्तकालय 1875 में स्थापित किया गया था| 

उस समय इसे विश्वविद्यालय मदरसतुल ऊलूम नामक एक मदरसे के रूप में स्थापित किया गया था। 

सन1877 में इस पुस्तकालय को Mohammedan Anglo-Oriental College मदरसा बनाया गया। 

उसके बादRobert Rogers, जो भारत के वायसराय थे उन्होंने इसकी आधारशिला रखी और उसके बाद इस पुस्तकालय को उनके नाम से Lighten Library के रूप में नामित किया गया था। 

कई प्रसिद्ध विद्वानों ने उनके शिक्षण जिम्मेदारियों के साथ-साथ में  मानद पुस्तकाद्धयक्ष के रूप में यहाँ पर कार्य किया।

इस पुस्तकालय को 1960 में मौलाना आजाद पुस्तकालय नाम दिया गया था, 

जब प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू ने इस पुस्तकालय की वर्तमान इमारत का उद्घाटन किया था| 

वर्त्तमान में इस इमारत में सात मंज़िलें बने हुए हैं। 

यह पुस्तकालय मैदान और उद्यानों से  घिरा हुआ है। 4.75 एकड़ में यह पुस्तकालय बना हुआ है 

 मौलानाआजाद लाईब्रेरी कहाँ पर है ?

मौलाना आजाद पुस्तकालय A.M.U रोड, A.M.U परिसर, अलीगढ़, उत्तर प्रदेश

तीर्थ धाम मंगलायतन के बारे में जानने के लिए क्लिक करे 

तीर्थ धाम मंगलायतन

Maulana Azad Library Map

By

Where To Travel in October USA 2023