Best Places to Visit in Ashtabhuja Temple-Mirzapur | Kali Khoh TempleBest Places to Visit in Ashtabhuja Temple-Mirzapur | Kali Khoh Temple

Best Places to Visit in Ashtabhuja Temple-Mirzapur

Best Places to Visit in Ashtabhuja Temple-Mirzapur
Places to Visit in Ashtabhuja Temple-Mirzapur

मिर्ज़ापुर में अष्टभुजा मंदिर विंध्यवासिनी मंदिर से लगभग 3 किमी की दूरी पर स्थित है।

यह धार्मिक स्थल बहुत ही सुन्दर एवं मनोरम है जो की पहाड़ी की चोटी पर स्थित है।

अष्टभुजा मंदिर की अधिष्ठात्री देवी अष्टभुजा देवी हैं, जो की मां दुर्गा का ही अवतार है और माँ दुर्गा के रूप में ही उनकी पूजा होती हैं।

अष्टभुजा मंदिर  में दर्शन करने आये हुए भक्तो को यहां पर स्थित सीता कुंड, गेरुआ और मोतिया कुंड देखने को मिलते है।

ऐसा कहा जाता है कि पहले के समय में राजा अपने दुश्मनों का विनाश करने के लिए माँ दुर्गा की पूजा किया करते थे।

अष्टभुजा मंदिर मिर्ज़ापुर में उत्तर प्रदेश पर्यटन विभाग ने यहां पर पर्टयन को बढ़ावा देने के लिए १६ करोड़ की लगत से Public Private Partnership Model पर  यहां पर Ropeway का निर्माण कराया है |

इस Ropeway का निर्माण कार्य 2014 में शुरू हुआ और 2020 में यह बनकर भी तैयार हो गया है

इस Ropeway के माध्यम से आपका सफर और भी रोमांचक हो जायेगा |

अष्टभुजा मंदिर और काली खोह मंदिर में चढने के लिए 130 सीढियाँ है | और वही Ropeway  से 297 मीटर की दुरी पर अष्टभुजा मंदिर है व् काली खोह की दुरी 167 मीटर है|

यहां पर आपको 260 मीटर की उचाई से यहां का नजारा देखने को मिलेगा यहां का नजारा देखने एवं मंदिर में दर्शन करने पर्यटक अत्यधिक संख्या में आते है

Kali Khoh Temple
Places to Visit in Ashtabhuja Temple-Mirzapur

काली कोह मंदिर – Kali Khoh Temple

विंध्यवासिनी मंदिर से 3 किमी की दूरी पर पहाड़ी में स्थित गुफा में काली कोह मंदिर बनाया गया है |

इस मंदिर में देवी महाकाली वास करती है।

यह मंदिर पहाड़ी के आधार पर निर्मित है जहां अष्टभुजा मंदिर बनाई गई है।

सीता कुंड – Sita Kund

यहाँ पर रहने वाले स्थानीय नागरिकों का मानना है कि त्रेतायुग में देवी सीता ने अपने पति राम के साथ वनवास के समय  विंध्याचल में इस तालाब में स्नान किया था।

इस कुंड को बाद में सीता कुंड के नाम से जाना जाने लगा , इस स्थान पर श्रद्धालुओ की संख्या अधिक देखने को मिलती है।

यहाँ पर कुंड होने के कारण भी अधिक संख्या में पर्यटक एवं श्रद्धालु आते रहते है|

विंध्याचल में कैसे पहुंचें _How to reach Vindhyachal

हवाई मार्ग द्वारा : वाराणसी के पास का लाल बहादुर शास्त्री हवाई अड्डा है, जो की  विंध्याचल से मात्र 51 किलोमीटर की दूरी पर है|

रेल के द्वारा: विंध्याचल में Vindhyachal Railway Station है।

सड़क मार्ग के द्वारा : विंध्याचल तक जाने के लिए राज्य परिवहनों द्वारा एवं Private Buses, Taxisऔर लोकल कारों से आसानी से पहुंचा जा सकता है।

Ashtabhuja Temple-Mirzapur Map

By

Where To Travel in October USA 2023